पुलिस से आत्मरक्षा की गुहार लगाने के तुरंत बाद हत्या, गोरक्षा दल के होशंगाबाद अध्यक्ष रवि विश्वकर्मा के हत्यारे अब भी फरार

0
629

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के होशंगाबाद (Hoshangabad) जिले में विश्व हिंदू परिषद (VHP) के नेता और गोरक्षा दल (Goraksha Dal) के जिलाध्यक्ष रवि विश्वकर्मा को अपनी जान का गंभीर ख़तरा लग रहा था, इसलिए अपनी ङिफ़जत के लिए वह पुलिस से गुहार लगाने गए थे, लेकिन पुलिस को ज्ञापन देकर लौटते समय ही हत्यारों ने उनकी पीट-पीट कर हत्या कर दी। यह घटना  में शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) के शासन में पुलिस तत्परता की पोल खोल रही है। रवि विश्वकर्मा को पहले दिन दहाड़े डंडों पीट-पीट कर अधमरा किया गया, फिर गोली मार दी। यह घटना पिछले शुक्रवार यानी 27 जून 2020 को हुई। हत्या का यह लाइव वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। हत्या के तीन दिन बाद भी पुलिस हत्यारों का कोई सुराग नहीं खोज पाई है।

पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक 35 वर्षीय रवि विश्वकर्मा शुक्रवार की शाम होशंगाबाद से वापस अपनी कार से अपने घर पिपरिया जा रहे थे। जैसे ही कार ने पिपरिया के अंडरब्रिज को पार किया, वहां पहले से घात लगाकर बैठे बदमाशों ने उनकी कार को घेर लिया और उस पर लाठी-बल्लम और लोहे की रॉड से हमला कर दिया। हमलावर करीब 15 मिनट तक कार पर रॉड ओर डंडे से प्रहार करते रहे। इसके बाद उनमें से एक बदमाश ने रवि को दो गोली मारी। मरणासन्न रवि को अस्पताल ले जाया गया लेकिन अस्पताल में डॉक्टरों ने उन्हें ब्रॉड डेड (Brought dead) रास्ते में उनकी मौत हो गई। बताया जाता है कि रवि की घटनास्थल पर ही मौत हो गई थी। बताया जाता है कि हमलावर दूसरी गाड़ी से आए वहां आए थे। इस पूरे हत्याकांड के दौरान बदमाशों ने रवि के दो सथियों को वहां से डरा धमकाकर भागा दिया।

पुलिस (Police) के अनुसार लगभग आधा दर्जन बदमाश काले रंग की कार पर हमला कर दिया। अंत में अपराधियों द्वारा फायरिंग (Firing) भी की गई। बताया जा रहा है कि वहां से गुजर रहे ऑटो में बैठे युवक ने अपने मोबाइल से हत्या का वीडियो बना लिया। होशंगाबाद पुलिस ने जांच और तेज कर दी है पुलिस ने प्रत्येक आरोपी की जानकारी देने पर दस हजार रुपये का इनाम घोषित किया है।

पुलिस ने बताया कि रवि विश्वकर्मा के दोस्तों और कार में सवार लोगों से पूछताछ के आधार पर नौ आरोपियों पर पिपरिया थाने में मामला दर्ज किया गया है। एडिशनल एसपी अवधेश प्रताप सिंह ने बताया कि 10 लोगो पर हत्या का केस दर्ज किया गया है। आरोपियो की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की तीन टीमें गठित की गई हैं। वीडियो के अलावा वहां लगे सीसीटीवी से कुछ फुटेज भी मिले हैं।

विश्व हिंदू परिषद के नेता की दिन-दहाड़े हुई हत्या को लेकर इलाके में स्थिति बेहद तनावपूर्ण बतायी जा रही है। लोगों में पुलिस के खिलाफ भारी आक्रोश है। दिनदहाड़े हत्या की यह पूरी वारदात आपसी रंजिश से जुड़ी बताई जा रही है, इसके साथ विहिप नेता रवि ने पिछले दिनों सोशल मीडिया पर एक पोस्ट लिखी थी और कहा था कि वह जल्दी ही कुछ सफेदपोश लोगों को बेनकाब करेंगे। इस पोस्ट को भी हत्याकांड की वजह मानकर पुलिस अपनी जांच कर रही है।

हत्या की आशंका थी रवि को

बताया जाता है कि रवि विश्वकर्मा को अपनी हत्या होने की आशंका थी इसको लेकर उन्होंने शुक्रवार को ही पुलिस को ज्ञापन सौंपा था। पुलिस की जांच में सामने आया है कि यह हत्या दोनों गुटों में वर्चस्व को लेकर अंजाम दी गई है। होशंगाबाद के पुलिस महानिरीक्षक आशुतोष रॉय का कहना है कि पहले रवि विश्वकर्मा आरोपी मुन्ना गुर्जर के साथ ही काम करता था। बाद में दोनों में अनबन हो गई और रवि ने अपना एक अलग गुट बना लिया था। उसके बाद से ही दोनों के बीच में तनातनी चल रही थी। यह पता नहीं चल पाया है कि इधर दोनों बीच में क्या कुछ हुआ जिसके चलते रवि की हत्या कर दी गई।

पिपरिया पुलिस थाना प्रभारी सतीश अंधवान ने बताया कि रवि विश्वकर्मा को दो गोलियां लगीं। एक उनके हाथ पर जबकि दूसरी उनके दूसरे हाथ पर लगने के बाद छाती में जा घुसी, जिससे उनकी घटनास्‍थल पर ही मौत हो गई। हमले में रवि विश्वकर्मा के दो साथी घायल भी हुए हैं।

शिवराज ने मंगलराज को जंगलराज बना दिया – कांग्रेस

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने शनिवार को ट्वीट कर प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाया है। प्रदेश कांग्रेस ने घटना का लाइव वीडियो ट्विटर पर पोस्ट कर कहा है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मध्य प्रदेश के मंगलराज को तीन महीने में ही जंगलराज बना दिया।

यह हत्या सुनियोजित थी – विश्‍व हिंदू परिषद

हत्या की इस वारदात पर विश्‍व हिंदू परिषद के प्रांत सहमंत्री गोपाल सोनी ने कहा कि यह सुनियोजित हत्‍या है।  रवि विश्वकर्मा जिले में गायों की रक्षा के लिए काम कर रहे थे। उन्होंने इस हत्‍याकांड की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है।