पं. श्यामरंग शुक्ला व पूनम विश्वकर्मा के कजरी की धूम

0
1747

मुंबई। मनभावन महीना सावन के आगमन के साथ ही देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में लोकगीत कजरी गायन शुरू हो गया है। शहर में जगह-जगह कजरी का आयोजन होने लगे हैं। कई जगह कजरी महोत्सव का आयोजन होने वाला है। इसी तरह सावन के पहले सोमवार को मशहूर गायिका-गीतकारा पूनम विश्वकर्मा (Poonam Vishwakarma) ने अपने गुरु शास्त्रीय संगीत के महारथी और कजरी विधा के मर्मज्ञ गोसाईं घराने के सरताज डॉ. पंडित श्यामरंग शुक्ला (Pandit Shyamrang Shukla) की संगत में कजरी पेश किया।

कांदिवली पश्चिम के गौरव गार्डन इलाके में हुए कजरी प्रोग्राम में लोगों को श्यामरंग शुक्ला और पूनम विश्वकर्मा से अनेक कजरी सुनने को मिली। इस कजरी प्रोग्राम से उत्साहित पूनम ने कहा कि कजरी प्रेमियों के लिए अब वह सावन के हर सोमवार को कजरी पेश करेंगी। पूनम का पं. श्यामरंग शुक्ला के साथ यह पहली प्रस्तुति थी। कार्यक्रम की शुरुआत लोकगीत के पीएचडी कर चुके पं. श्यामरंग शुक्ला की गाई क्लासिक कजरी से हुई। जबकि समापन पूनम ने अपनी स्वरचित कजरी से की, जिसकी रिकॉर्डिंग अभी हाल ही में हुई है।

पूनम इवेंट एंड इंटरटेनमेंट (Poona Event & Entertainment) के बैनरतले हुए इस प्रोग्राम की खासियत यह रही कि कई लोकप्रिय कजरियों के साथ साथ पूनम ने कई स्वरचित कजरी दर्शकों के समक्ष पेश किया। कजरी प्रोग्राम में पूनम की तबले पर तबला वादक प्रकाश तिवारी और की बोर्ड पर मुकेश विश्वकर्मा ने संगत दी। इस प्रोग्राम को फेसबुक पर लाइव किया गया, जिसे हजारों लोगों ने देखा। मुंबई कांग्रेस के महासचिव बाबूलाल विश्वकर्मा (Babulal Vishwakarma) और कारपेंटर्स वेलफेयर असोसिएशन (Carpenter Welfare Association) के अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण विश्वकर्मा (Vashishtha Narayan Vishwakarma) ने पं. श्यामरंग शुक्ला और पूनम विश्वकर्मा का स्वागत किया।

इसे भी पढ़ें – पिया मेंहंदी मंगा द मोतीझील से, जाइके सायकिल से ना…