चमत्कार – ईद के दिन आया नदीम ख़ान को होश, पार्वती खान ने दिया दुआ करने वालों को धन्यवाद

0
845

इंडिया व्यूपॉइंट

मुंबईः बॉलीवुड के नामचीन फ़ोटो डायरेक्टर और कालजयी साहित्यकार डॉ. राही मासूम रज़ा के पुत्र नदीम ख़ान (Nadeem Khan) को 22 दिन बाद अचानक ईद के दिन होश आ गया। पिछली 4 मई को अपनी बिल्डिंग की सीढ़ी उतरते समय सीढ़ी पर ही गिर जाने से नदीम ख़ान बेहोश हो गए थे और तब से बांद्रा पश्चिम के लीलावती अस्पताल में के आईसीसीयू में अवचेतन अवस्था में थे, लेकिन ईद के दिन शाम हो उनको होश आ गया।

नदीम ख़ान की पत्नी और अपने ज़माने की चर्चित पॉप सिंगर और बाबा भोलेनाथ की भक्त पार्वती ख़ान (Parvati Khan) ने बताया, “ईद के मुकद्दस दिन अस्पताल में शाम साढ़े चार बजे अचानक नदीम खान ने आंखें खोली। क़रीब पांच बजे फिर आंखें खोली और बायां हाथ भी हिलाया।”

पार्वती ख़ान ने बताया, “अस्पताल में नदीम ख़ान ने जैसे ही आंखें खोली, आईसीसयू से आकर एक नर्स ने बताया और वहां मौजूद पार्वती और उनके बेटे जतिन तुरंत आईसीसीयू में गए। डॉक्टर ने कहा, “यह तो चमत्कार है। अब नदीम जल्दी ही ठीक होकर घर लौटेंगे।”

बाद में ईद के दिन हुए इस चमत्कार के बाद पार्वती खान ने नदीम ख़ान के लिए दुआ करने वालों को दिल से धन्यवाद दिया और कहा कि यह दुआओं का असर है कि नदीम को होश आ गया। पार्वती ने बताया, “आज (26 मई) सुबह भी नदीम ने आखें खोली। फिलहाल अभी बातचीत नहीं कर पा रहे हैं और डॉक्टर अभी उन्हें आईसीसीयू में ही रखेंगे।”

पार्वती ख़ान ने बताया कि 4 मार्च को अपने बैंड स्टैंड (बांद्रा) में अपनी बिल्डिंग से उतरते समय सीढ़ियों पर ही गिर पड़े थे। जिससे सिर पर बहुत गंभीर चोट लगी थी और तब से ही अस्पताल में बहोश थे। इसी दौरान छह मई को उनकी सर्जरी की गई थी।

पार्वती ख़ान ने लोगों से अपील कि के नदीम के लिए दुआएं करते रहें।

पार्वती ख़ान ने इस बात पर नाराज़गी ज़ाहिर करते हुए कहा, “उत्तर प्रदेश के प्रमुख अख़बार ने अपने डिजिटल एडिशन में नदीम के बारे में ग़लत ख़बर चलाई और ग़लत समाचार लिखा कि इलाज के लिए हम लोगों को मदद की ज़रूरत है। यह हमारी छवि को ख़राब करने का कुप्रयास है।”

उत्तरांचल से कैरेबियन द्वीप त्रिनिडाड में बस गए भारतीय परिवार में जन्मी पार्वती महाराज सिंगिंग के क्षेत्र में करियर बनाने के लिए अस्सी के दशक में भारत आई थीं। बाद में बॉलीवुड के फोटो डायरेक्टर नदीम ख़ान से प्रेम-विवाह कर लिया।

भगवान शिव में पार्वती ख़ान की अपार श्रद्धा है। वह भजन गाती हैं। देश के सभी 12 ज्योतिर्लिंगों का दर्शन कर चुकी हैं। काशी विश्वनाथ में उनका दर्शन बहुत अधिक सुर्खियों में रहा। 2004 में वह महाशिवरात्रि के दिन ही वाराणसी पहुंच गई थीं। सरकारी रोक के बावजूद गोपनीय तरीक़े से आठ दिन तक वाराणसी में रहीं। इस दौरान वह महाशिवरात्रि के दिन बनारस की मशहूर शिव बारात में शामिल हुईं और उन्होंने आठ दिन रोज़ाना बाबा विश्वनाथ का दर्शन-पूजन और सवा लाख महामृत्युंजय जाप भी किया था। उनकी शिवभक्ति को देखते हुए ही बनारस के कई लोगों ने दर्शन करने ने उनकी मदद की थी। बहरहाल, पार्वती के बनारस से मुंबई लौटने पर एक समाचार एजेंसी ने न्यूज़ ब्रेक कर दी। पार्वती का काशी विश्वनाथ में दर्शन करना पूरे देश में चर्चित हुआ था।

इसे भी पढ़ें – ठुमरी – तू आया नहीं चितचोर