312 दिन बाद मुंबई की लाइफ लाइन उपनगरीय ट्रेन फिर से पटरी पर (After 312 days Life Line Of Mumbai is once again On track)

0
926

मुंबई के लोगों के लिए आज बहुत बड़ा दिन है, क्योंकि आज (1 फरवरी 2021) 312 दिन बाद यानी लगभग साढ़े दस महीने बाद मुंबई की लाइफ लाइन उपनगरीय ट्रेन फिर से पटरी पर आ गई। कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए 22 मार्च 2020 को लोकल गाड़ियां बंद कर दी गई थीं। हालांकि लोकल सेवा 15 जून 2020 से आंशिक तौर पर बहाल कर दी गई थीं, लेकिन यह अतिआवश्यक सेवा से जुड़े लोगों के लिए थी। 27 जनवरी से सभी ट्रेनों का आवागमन शुरू हो गया था, उसके बाद से कयास लगाए जा रहे थे कि आम लोगों के लिए भी लोकल सेवा खोल दी जाएगी। इसके बाद महाराष्ट्र सरकार ने रेल मंत्रालय को प्रस्ताव भेजा और रेल मंत्रालय ने कुछ दिशा निर्देश के तहत आम लोगों को यात्रा करने की अनुमति दे दी।

पुराने सीजन टिकट से कर सकते हैं यात्रा

जिन यात्रियों का सीजन टिकट 22 मार्च 2020 को समाप्त नहीं हुआ था, वे लोग उस सीजन टिकट पर यात्रा कर सकते हैं। मध्य रेलवे और पश्चिम रेलवे ने एक विज्ञप्ति जारी करके कहा कि जिन आम यात्रियों का सीजन टिकट यानी पास 22 मार्च 2020 को समाप्त नहीं हुआ था, वे लोग उसी सीजन टिकट पर सीजन टिकट के समाप्त होने की तिथि तक यात्रा कर सकते हैं।  उदाहरण के लिए जिनका सीजन टिकट 30 मार्च 2020 तक वैध था, वे अब 8 दिन और यानी 8 फरवरी 2021 तक यात्रा कर सकते हैं।

आम आदमी के लिए लोकल ट्रेन सेवा

पहली ट्रेन से लेकर सुबह सात बजे तक
दोपहर 12 बजे से शाम चार बजे तक
रात नौ बजे से अंतिम ट्रेन के छूटने तक

आवश्यक सेवा वाले लोगों के लिए लोकल ट्रेन सेवा

सुबह सात बजे से दोपहर 12 बजे तक
शाम चार बजे से रात नौ बजे तक

करीब तीन महीने के लंबे अंतराल के बाद मुंबई की लाइफलाइन कही जाने वाली उपनगरीय रेल सेवा सोमवार (15 जून से 2020) आंशिक रूप से बहाल कर दी गई थी। लॉकडाउन से पहले सामान्य दिनों में सेंट्रल रेलवे रोजाना 1,774 सेवाओं का संचालन करती थी जबकि वेस्ट्रन रेलवे 1,367 सेवाओं का संचालन करती थी।

वर्तमान में रेलवे 2,985 सेवाओं का संचालन कर रही है जोकि कुल सेवा का करीब 95 फीसदी है। इस बीच, सरकार ने लोकल ट्रेन सेवा संबंधी एक परिपत्र में कहा कि वह सभी प्रतिष्ठानों से अपनी कार्य सारणी में थोड़ा बदलाव रखने की अपील करेगा ताकि कर्मचारी निर्धारित समयसारणी के अनुसार उपनगरीय रेल सेवाओं का लाभ उठा सकें। मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने हाल ही में रेलवे अधिकारियों के साथ बैठक की थी और इस दौरान लोकल ट्रेनों में भीड़ एकत्र नहीं होना सुनिश्चित करने को कहा था। सरकार ने मुंबई और मुंबई महानगरीय क्षेत्र (एमएमआर) की दुकानों को रात 11 बजे तक और रेस्त्रां को देर रात एक बजे तक संचालित करने की अनुमति प्रदान की है।

इसे भी पढ़ें – आप भी बदल सकते हैं ग़ुस्से को प्यार में…