मां बनने का नया चमत्कार एग बैंकिंग

0
2432

किसी स्त्री के लिए जीवन में क्या सबसे ज़्यादा मायने रखता है? करियर या मातृत्व? बेशक किसी स्त्री के लिए करियर और मातृत्व जीवन की दो सबसे महत्वपूर्ण घटनाएं होती हैं, लेकिन जब दोनों में से किसी एक को चुनने की बात आती है तो अक्सर महिलाएं इच्छा या अनिच्छा से मातृत्व का ही विकल्प चुनती हैं। यानी मां बनने के लिए स्त्रियां अपने करियर का त्याग कर देती हैं। लेकिन मेडिकल साइंस ने अब स्त्रियों को इस ऊहापोह से मुक्त कर दिया है। अब महिलाओं को मां बनने के लिए करियर का त्याग करने की ज़रूरत नहीं है। जब चाहे तब वे मां बन सकती हैं, यहां तक कि मां बनने की उम्र गुज़र जाने के बाद भी कोई महिला मां बन सकती है।

मेडिकल साइंस की यह चमत्कारी तकनीक है एग बैंकिंग या एग फ्रीजिंग तकनीक। इसे अंडाणु संग्रह या अंडाणु हिमीकरण की तकनीक भी कहा जाता है। यह तकनीक उस स्त्री के लिए कारग़र साबित हो सकती है जो करियर, विलंब शादी, पीरियड या अन्य किसी चिकित्सकीय कारणों से मां बनने से वंचित रहती हैं। एक दशक पहले तक भारत में ऐग फ्रीजिंग सिर्फ़ एक सपना थी, लेकिन अब यह हक़ीक़त बन गई है। मेडिकल साइंस के इस चमत्कार की बदौलत अब महिलाएं जब चाहें और जिस भी उम्र में चाहें, तब मां बनने का सुख हासिल कर सकतीफ्रोजन एग्स हैं।

इसे भी पढ़ें – क्या पुरुषों का वर्चस्व ख़त्म कर देगा कोरोना?

फ्रोजन एग्स से बेबी मुमकिन
एग फ्रीजिंग या औसाइट क्रायोप्रिजर्वेशन असिस्टिड रिप्रोडक्टिव टेक्निक में में प्रसव आयु में ही महिला के अंडों को बाद में उपयोग करने के लिए फ्रीज करके स्टोर कर लिया जाता है और उसका मन माफिक इस्तेमाल किया जाता है। सीधे शब्दों में कहें, तो एग बैंकिंग किसी महिला के एग्स का निचोड़ है, जिसे जमा (फ्रोजन) या संग्रहित किया जाता है। जब मातृत्व के संकेत मिलते हैं या किसी महिला में मातृत्व का अनुभव करने की भावना प्रबल होती है, तो उसकी उम्र और चिकित्सकीय जटिलताओं की परवाह किए बिना इन जमा किए अंडों (फ्रोजन एग्स) को पिघलाकर, निषेचित कर और भ्रूण के रूप में उसके गर्भाशय में स्थानांतरित किया कर दिया जाता है।

वैज्ञानिक चमत्कार
जब बात मातृत्व के निर्णय करने की आती है तब भावनात्मक अहसास परिवर्तनशील होता है। आज जब कि यह पता चल गया है कि महिलाएं किसी भी समय मां बनने का विकल्प चुन सकती हैं तब यह विकल्प महिलाओं को सही निर्णय लेने की आज़ादी देता है कि उन्हें कब बच्चा चाहिए। इसकी इस तरह से व्याख्या नहीं की जानी चाहिए कि इस तकनीक की मदद से महिलाएं मातृत्व से बच रही हैं। दरअसल यह चमत्कार है कि उनके पास अब एक विकल्प भी है। पहले परंपरागत रूप से मातृत्व सुख पाने के साधन बहुत सीमित थे। आज एग बैंकिंग के सबसे प्रभावशाली विकल्प है।

यह मानकीकृत तकनीक बेहतर परिणाम प्रदान करती है और यह ऐसी महिलाओं के लिए आशा की किरण है जो करियर के दबाव या देर से शादी होने के कारण या फिर जीवन बिताने के लिए ‘सही’ आदमी की तलाश के चलते मातृत्व में देरी करती हैं। शादी के लिए ‘मिस्टर राइट’ की तलाश में हालांकि समय लग सकता है और अक्सर यह सोच से ज़्यादा मुश्किल हो सकता है। और ऐसे में प्रतीक्षा करने का निर्णय महिलाओं की प्रजनन क्षमता पर प्रभाव डाल सकता है क्योंकि उम्र के साथ प्रजनन में सहायक एग्स का उत्पादन क्षमता घटने लगती है और वे सूखने लगते हैं।

इसे भी पढ़ें – मुंबई से केवल सौ किलोमीटर दूर ‘महाराष्ट्र का कश्मीर’

एग बैंकिंग बढ़िया विकल्प
एग बैंकिंग इसलिए ऐसी महिलाओं के लिए एक बढ़िया विकल्प है जो सामाजिक दबाव के इशारे पर ‘बेबी पैनिक’ बटन दबाने की इच्छक नहीं है। यह महिलाओं को उनके जैविक घड़ियों के नियंत्रण की अनुमति देता है। उन पर किसी तरह का दबाव नहीं होता है। यह विचार मुक्ति का अहसास प्रदान करता है। महिलाएं अपनी इच्छा के अनुसार और अपनी मनचाही उम्र में मातृत्व सुख का अनुभव कर सकती हैं। दिनों दिन एग बैंकिंग की बढ़ती लोकप्रियता इस बात का संकेत है कि पैरेंटिंग का सुख प्राप्त करना अब वास्तविकता है; इससे फर्क नहीं पड़ता कि आपने इसमें कितनी देर कर दी है या फिर किसी तरह की चिकित्सकीय जटिलताएं इसकी राह में रोड़ा बन रही हैं। एग बैंकिंग ने जीवनशैली और ज़रूरतों के अनुरूप महिलाओं के लिए मातृत्व का द्वार खोल दिया है। इसलिए आज की औरत मातृत्व और करियर का निर्वाह करने में सहज और सक्षम है।

डायना हेडन व व्हिटनी कमिंग्स
चार साल पहले जब पूर्व मिसवर्ल्ड डायना हेडन के 44 साल की उम्र में मां बनीं तो उसकी ख़ूब चर्चा हुई थी। डायना नेहेडन 13 जनवरी 2016 को एग फ्रोजेन के ज़रिए अपनी बेबी गर्ल को जन्म दिया था। डायना हेडन ने आठ साल पहले अपने गर्भाशय से बेबी ऐग निकलवाकर लीलावती अस्पताल और भाटिया अस्पताल और फोर्टिस अस्पताल से जुड़े अग्रणी इन्फर्टिलिटी विशेषज्ञ डॉ. ऋषिकेश पै और डॉ नंदिता पालशेतकर के पास आठ साल पहले जमा (फ्रोजन) कराया था।

दरअसल, डायना ने आठ साल पहले अपने गर्भाशय से बेबी ऐग निकलवा कर अस्पताल में फ्रीज करवा दिया था और उसी फ्रोजन ऐग से बेबी को जन्म दिया। इसी तरह हास्य कलाकार व्हिटनी कमिंग्स इसे बेहद खूबसूरती से व्यक्त करती हैं- ‘जब से मैंने अपने एग को जमा कराया है, मैं बेहद उत्साहित महसूस कर रही हूं।’ एग बैंकिंग को सामाजिक स्वीकार्यता प्राप्त करने में मदद देनेवाले कई ग्लोबल सेलिब्रिटीज में सेलीन डायोन, किम कार्दशियां और प्रख्यात अभिनेता-सह-समाजवादी जा जा गबोर शामिल हैं। दरअसल, डायना हेडन ने आर्या हेडन नाम की बच्ची को जन्म दिया। डायना के मुताबिक़, “काम करने वाली महिलाएं अपनी फैमिली को आगे बढ़ाने में अक्सर दिक्कत महसूस करती हैं। अपनी बायोलॉजिकल क्लॉक को देखते हुए कई बार उन्हें अपने काम के साथ समझौता करना पड़ता है। लेकिन महिलाओं की यह चिंता मेडिकल साइंस ने अब दूर कर दी है।”

इसे भी पढ़ें – भारत का ‘ब्रह्मास्त्र’ सिंधु जल संधि

सन् 2005 में डायना ने पहली बार ऐग फ्रीजिंग के बारे में सुना। उसके बाद अक्टूबर 2007 से लेकर मार्च 2008 के बीच इनफर्टिलिटी स्पेशलिस्ट डॉ नंदिता पल्शेतकर की मदद से उन्होंने 16 एग्स फ्रीज करवाए थे। क्यूंकि हेडन अपने काम में बिजी थीं इसलिए उस समय वो मां बनने के लिए तैयार नहीं थीं। तीन साल पहले 40 साल की उम्र में हेडन को अमेरिकी नागरिक कॉलिन डिक से प्रेम विवाह कर लिया। शादी के दो साल बाद हेडन और डिक ने फ्रीज एग्स से बच्चा पाने की इच्छा ज़ाहिर की।

हेडन की डॉक्टर के अनुसार हेडन बीमारी के चलते दर्दभरी नॉर्मल डिलीवरी नहीं कर सकती थीं, क्योंकि उनके एग्स बहुत अच्छी क्वालिटी के नहीं थे। इसलिए एग्स फ्रीज करने का फैसला काफी सही रहा। अपने एग को फ्रोज करवाने वाली दुनिया के ग्लैमरस महिलाओं में सोफिया वरगारा (Sofia Vergara), एम्मा रॉबर्ट्स (Emma Roberts), क्रिसी टेगेन (Chrissy Teigen), मिशेला कोयल (Michaela Coel), रिबेल विल्सन (Rebel Wilson), कर्टनी कार्दशियन (Kourtney Kardashian), एमी शूमर (Amy Schumer), एमी हार्ट (Amy Hart), किम कार्दशियन (Kim Kardashian), रीता ओरा (Rita Ora), ओलिविया मुन्न (Olivia Munn), पेरिस हिल्टन (Paris Hilton) और ख्लोए कार्दशियन (Khloe Kardashian) के अलावा गायिका हैलसे (Halsey) भी शामिल हैं।

लिहाज़ा, अगर आप स्त्री हैं और आपका मां बनना आपके करियर के लिए बाधा बन रहा है तो चिंता करने की कोई ज़रूरत नहीं। आप दो-चार-दस साल बाद भी मां बनने का विकल्प अभी से सुनिश्चित कर सकती हैं और इसमें मेडिकल साइंस की एग बैंकिंग चकनीक आपकी मदद कर सकता है।

इसे भी पढ़ें – कहानी – ग्रीटिंग कार्ड