एकदम तन्हा हैं दर्जन भर पुरुषों को छोड़ने वाली मनीषा कोइराला

0
1077

कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी को मात दे चुकी समर्थ अभिनेत्री मनीषा कोइराला (Manisha Koirala) अपने प्रेम संबंधों (Love Affairs) को लेकर हमेशा विवाद और चर्चा में रहीं। भरतनाट्यम और मणिपुरी नृत्य में पारंगत मनीषा के जीवन में क़रीब दर्जन भर पुरुषों का आगमन हुआ और सभी से मनीषा के बेहद अंतरंग संबंध रहे लेकिन जीवन के पचास साल देख चुकी तारिका इन दिनों एकदम तन्हाई का जीवन जी रही है।

हिंदी, तमिल, तेलुगु, मलयालम औरनेपाली फिल्मों में अपने अभिनय का जलवा बिखेर चुकी नेपाली मूल की भारतीय मनीषा करियर के आरंभ से ही विवादों में घिरी रहीं। वह रूपहले पर अपने अभिनय को लेकर कम, लेकिन निजी जीवन में अफेयर्स को लेकर हमेशा चर्चा में रहीं। दो दशक से ज़्यादा समय खिंचने वाले कैरियर के दौरान मनीषा के जीवन में लगातार पुरुषों का आगमन होता रहा। उनके पहले प्रेमी 1991 की सुपरहिट फिल्म सौदागर के हीरो विवेक मुशरान थे। मनीषा फिल्म की नायिका थीं और विवेक को ऑफ कैमरा भी पसंद करने लगीं। सौदागर फिल्म की शूटिंग के दौरान मनीषा और विवेक के बीच प्यार का अंकुर फूट गया। दोनों की लविंग केमेस्ट्री फैंस को खूब पसंद आई थी। 1990 के दशक में इन दोनों के अफेयर की खबरों ने भी खूब सुर्खियां बटोरी थीं। लेकिन यह मोहब्बत बिना किसी अंजाम तक पहुंचे 1992 में ख़त्म हो गई। कहा जाता है कि मनीषा ही विवेक को छोड़कर आगे बढ़ गई।

घटना साल 1996 की है। फिल्म अग्निसाक्षी की शूटिंग शुरू हुई। फिल्म में मनीषा के अपोजिट थे नाना पाटेकर। शूटिंग के दौरान मनीषा ने नाना का दिल चुरा लिया। नाना भी उनसे बेहद प्यार करने लगे थे और मनीषा के प्रेमपाश में बंध गए। फिल्म के दौरान दोनों ही एक दूसरे को डेट करने लगे थे। इसके बाद दोनों की ऑफ-स्क्रीन केमिस्ट्री और प्यार की खबरें जंगल की आग की तरह फैली। कहा जाता था कि नाना धड़ल्ले से मनीषा के घर जाने और उनके साथ रात बिताने लगे। इसके गवीह मनीषा के पड़ोसी भी रहे। पड़ोसियों ने नाना को कई बार सुबह के समय में मनीषा के घर से निकलते हुए देखा। वैसे नाना पाटेकर मनीषा को लेकर बहुत ज्यादा पजेसिव थे। वह मनीषा को अपने को-स्टार्स के साथ इंटिमेट होने से रोकते थे। लेकिन मनीषा कहां मानने वाली थी। इससे उनके रिश्ते में दरार आनी शुरू हो गई थी और कुछ साल में रिश्ता ख़त्म हो गया।

नाना पाटेकर से ब्रेकअप के बाद मनीषा का दिल टूट गया। कहा जाता है कि उनके अंदर निर्वात से पसर गया। ठीक उसी समय एक पार्टी में उनसे मिले थे डीजे हुसैन। हुसैन उनके दिल के दरवाज़े पर दस्तक दे दी। बस क्या था, मनीषा ने दिल का दरवाज़ा खाल कर हुसैन का खैरमकदम किया। दोनों का प्यार परवान चढ़ गया था। कहा जाता है कि डीजे हुसैन ने मनीषा को शादी के लिए प्रपोज़ भी कर दिया था। लेकिन कमिटमेंट फोबिक मनीषा ने हुसैन के प्रपोजल को ठुकराकर ब्रेकअप कर लिया था।

मनीषा को भले ही इश्क में कमिटमेंट से डर लगता हो, लेकिन ब्रेकअप के तुंरत बाद ही उनके जीवन में कोई न कोई आ जाता था। डीजे हुसैन से अलग होने के तुरंत बाद मनीषा लंदन में रहने वाले नाइजीरियाई बिजनेसमैन सेसिल एंथनी को डेट करने लगीं। हांलाकि यह भी लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में तब्दील न हो सका। कहा जाता है कि सेसिल ने ढेर सारा पैसा मनीषा और उनके भाई के फिल्म प्रोजेक्ट के लिए पानी की तरह बहाया था। लेकिन बदले में उन्हें बेवफ़ाई ही मिली।

सेसिल एंथनी से अलग होने के बाद फिल्म ‘मार्केट’ की शूटिंग के दौरान मनीषा के क़रीब आए अभिनेता आर्यन वैद। देश की पत्र-पत्रिकाओं में उनके हॉट रोमांस की ख़बरें छपने लगीं। आर्यन वैद के प्यार के लिए तो मनीषा ने सी ग्रेड की फिल्मों में भी काम किया पर फिर भी इनका प्यार ज्यादा वक्त नहीं चल सका। कहा तो यह भी जाता था कि इस अफेयर का इस्तेमाल आर्यन ने लाइम लाइट में बने रहने के लिए किया। हांलाकि इस फेम का फायदा वो ज्यादा वक्त तक नहीं उठा पाए क्योंकि उम्मीद से भी जल्दी मनीषा उनसे अलग होकर दूसरी रहा पर चल पड़ीं।

आर्यन वैद से ब्रेकअप होने के बाद मनीषा का दिल मैंगी फेरा के मालिक प्रशांत चौधरी पर आ गया। दोनों की एक पार्टी में मुलाकात हुई और डेट करने लगे। प्रशांत चौधरी के साथ तो मनीषा का रिश्ता काफी गहरा माना जाने लगा। प्रशांत को मनीषा ने अपना सोलमेट बताने लगीं। दोनों एक दूसरे को लेकर बेहद ज़्यादा सीरियस थे और शादी करने की प्लानिंग भी कर रहे थे। लेकिन प्रशांत की बहनों को ये रिश्ता मंजूर नहीं था, क्योंकि उन्हें लगता था कि मनीषा उनके भाई के पैसे बहा रही हैं। बस क्या था फैमिली के दबाव के चलते प्रंशात ने मनीषा से अपना रिश्ता तोड़ लिया था।

प्रशांत से रिश्ता ख़त्म होने के बाद मनीषा नेपाल में ऑस्ट्रेलियाई राजदूत क्रिस्पिन कॉनरॉय के साथ दिखने लगीं। देश की मीडिया में उनके अफेयर की ख़बरें सुर्खियां बनने लगीं। कहा जाता है कि जब क्रिस्पिन ने मनीषा को शादी के लिए प्रपोज किया था तो मनीषा ने पहले कहा कि उन्हें थोड़ा वक़्त चाहिए। कॉनरॉय ने कहा कि कोई बात नहीं जितना चाहे समय ले लो पर शादी कर लो। परंतु यह भी कहा जाता है कि उसके बाद मनीषा ने ही अपने कदम पीछे हटा लिए और वह अफयेर भी ख़त्म हो गया।

क्रिस्पिन कॉनरॉय से अलग होने के बाद मनीषा गुमनाम हो गईं। तभी उन्हें देश के दूसरे सबसे अमीर शख्स अजीम प्रेमजी के छोटे बेटे तारिक प्रेमजी के साथ देखा जाने लगा। इसके बाद तो उनके हॉट रोमांस की ख़बरें अखबारों की सुर्खियां बनने लगीं। कहा जाता है कि दोनों एक दूसरे को इतना ज़्यादा मिस करने लगे कि शादी करने का फ़ैसला कर लिया। लेकिन इस बार पारिवारिक दबाव के चलते तारिक प्रेमजी पीछे हट गए। इस तरह तारिक प्रेमजी के साथ भी मनीषा कोइराला की लाइफ अफेयर से आगे नहीं बढ़ सकी।

बहरहाल, तारिक प्रेमजी के पीछे हटने से मनीषा बिल्कुल हर्ट नहीं हुईं। एक पार्टी में उनका इन्काउंटर कभी ऐश्वर्या राय के बॉयफ्रेंड राजीव मूलचंदानी सो हो गया। बस दोनों दोस्त बन गए। लेकिन जल्दी ही यह रिश्ता दोस्ती की लक्ष्मण रेखा पार कर अफेयर की कैटेगरी में आ गया। इस तरह राजीव मनीषा के प्रेमियों की फेहरिस्त में शामिल हो गए। राजीव खबरों से नज़दीकी को खुद मनीषा ने हवा दी। अपनी डेटिंग की खबरों को कन्फर्म करते हुए मनीषा ने यहां तक कह दिया था कि उनके लिए ही राजीव ने ऐश्वर्या को छोड़ा है। बहरहाल, कुछ समय बाद मनीषा राजीव से भी उबने लगीं और उन्हें टाटा कह दिया।

मॉडल राजीव मूलचंदानी से ब्रेकअप के बाद मनीषा रोमियो इमैज वाले म्यूज़िक कम्पोज़र संदीप चौटा की ओर आकृष्ट हुईं और 2007 में पब्लिकली संदीप चौटा को डेट करने लगी थीं। रोमियो इमैज वाले संदीप इससे पहले सुष्मिता सेन, शिल्पा शेट्टी और उर्वशी ढोलकिया जैसी अभिनेत्रियों के साथ अफेयर्स को लेकर चर्चित रहे थे। संदीप चौटा मनीषा के साथ डेट के आगे सीरियस रिलेशनशिप के लिए राज़ी नहीं थे। लिहाज़ा, दोनों आपसी सहमति से अलग हो गए।

संदीप चौटा से अलग होने के तुरंत बाद मनीषा की मुलाकात अचानक अमेरिकी स्पोर्ट्स काउंसलर और बिजनेसमैन क्रिस्टोफर डोरिस से हो गई। पहली मुलाकात तो बस बहना थी। इसके बाद दोनों जल्दी-जल्दी मिलने लगे। बस क्या था, दोनों एक दूसरे के प्यार में गिरफ्त हो गए। मनीषा डोरिस के साथ लगभग तीन साल डेटिंग करती रही। उनके हॉट रोमांस की चर्चा खूब होने लगी। यह भी कहा गया कि दोनों जल्द ही शादी भी करने वाले हैं। लेकिन अचानक दोनों के ब्रेकअप की खबर ने सभी को हैरान कर दिया था।

क्रिस्टोफर डोरिस के प्रेमपास से निकलने के बाद मनीषा गंभीर हो गईं। जल्द ही उनके बारहवें प्रेमी के रूम में सामने आए नेपाली बिजनेसमैन सम्राट दहल। दहल के साथ डेट करने के एक साल के अंदर ही मनीषा कोइराला ने गुपचुप शादी की थी। मनीषा को मैरिज मैटेरियल न मानने वाले उनके अचानक शादी कर लेने से हैरान रह गए। लोगों को आशंका थी कि यह बुलबुल एक पिंजरे में कैसे रहेगी। लोगों की आशंका सच साबित हुई। मनीषा और सम्राट की शादीशुदा जिंदगी दो साल भी नहीं चली। साल 2012 में मनीषा सम्राट से तलाक लेकर अलग हो गई।

हालांकि मनीषा पति दहल से तलाक के लिए खुद को ही दोषी मानती हैं। उनका मानना था कि उनका विवाह करना जल्दबाजी में लिया गया ग़लत निर्णय था। शादी भी उनके लिए एक अनुभव मात्र रहा। बहरहाल, अपने जीवन में एक दर्जन पुरुषों का स्वागत करने वाली मनीषा कोइराला आजकल एकदम से एकाकी जीवन जी रही हैं। शादी शुदा जीवन जीते हुए उन्होंने महसूस किया की विवाह जैसे बंधन के लिए वे नहीं बनी है। मनीषा मानती हैं कि एक बिगड़े रिश्ते को ढोने से बेहतर है उनसे अलग हो जाना।

नेपाली राजनेता और नेपाल के पूर्व प्रधानमंत्री बिश्वेश्वर प्रसाद कोइराला के पुत्र प्रकाश कोइराला और सुषमा की संतान मनीषा कोइराला का जन्म 16 अगस्त 1970 को नेपाल के काठमांडू में हुआ था। मनीषा का भाई सिद्धार्थ कोइराला अभिनेता है। मनीषा बचपन में बनारस में रही और आरंभिक पढ़ाई काशी के वंसत कन्या महाविद्यालय से हुई। सेकंडरी की पढ़ाई करने के लिए मनीषा आर्मी स्कूल धौलकुआं नई दिल्ली चली गयीं। मनीषा बचपन से डॉक्टर बन दूसरों की सेवा करने की चाहत थी, लेकिन मॉडलिंग ने उनके लिए फ़िल्मी दुनिया के द्वार खोल दिए।

मनीषा का फ़िल्मी करियर सुभाष घई की सौदागर से शुरू हुआ। साल की सबसे बड़ी ब्लॉकबस्टर हिट फिल्म में दो लीजेंड कलाकार राज कुमार और दिलीप कुमार एक साथ बड़े पर्दे पर दिखे थे। पहली फिल्म ने मनीषा को रातों रात सुपरस्टार बना दिया था। गैर-फ़िल्मी परिवार की होने के बावजूद वह अपने दौर की सर्वश्रेठ अभिनेत्रियोँ में रहीं। साल 1996 में पार्थो घोष निर्देशित अग्नि साक्षी और संजय लीला भंसाली की ख़ामोशी ने मनीषा को लीडिंग हीरोइन बना दिया। दोनों ही फिल्मों में उनके दो अलग रूप दिखे। अग्नि साक्षी में में मनीषा अपने बीमार पति का ध्यान रखते हुए पतिव्रता पत्नी का किरदार निभाया तो खामोशी में वह अपने गूंगे माँ-बाप का ध्यान रखने वाली प्यारी सी ऐनी की भूमिका में थीं। दोनों ही फिल्मों में उनके अभिनय को देखकर उनके आलोचक ने भी दांतो तले उंगली दबा ली और माना कि मनीषा अभिनय में पारंगत है।

मनीषा साल 1997 में बॉबी देओल और काजोल के अपोजिट ब्लॉकबस्टर फिल्म गुप्त- द हिडन ट्रुथ में नजर आईं। इसी साल वह पहली बार बड़े पर्दे पर शाहरुख़ खान के मणि रत्नम की फिल्म दिल से में भी ज़ोरदार अभिनय करती हुई दिखीं। इस फिल्म के लिए फिल्म फेयर बेस्ट एक्ट्रेस का नामंकन भी मिला। वर्ष 1999 में मनीषा फिल्म मन और अजय देवगन स्टारर फिल्म कच्चे धागे में नजर आईं। फिल्म मन उनकी लाजवाब एक्टिंग देख आलोचकों ने उन्हें मीणा कुमार तक की उपाधि दे डाली थी। यह फिल्म उस साल की सबसे बड़ी फिल्मों में से एक फिल्म साबित हुई थी। साल 2000 में वह मल्टीस्टारर फिल्म लज्जा में नजर आयीं। इस फिल्म में उनका अभिनय काबीले तारीफ था। उसके बाद वह वर्ष 2002 में अजय देवगन स्टारर फिल्म कंपनी में नज़र आयीं। इस फिल्म के लिए उन्हें तीसरा फिल्म फेयर क्रिटिक्स अवार्ड से भी नवाजा गया।

साल 2003 में मनीष काफी लो बजट फिल्मों में नजर ने लगी। इसी साल केंद्रित फिल्म इस्केप फ्रॉम तालिबान में नज़र आयीं। इस फिल्म के लिए उन्हें बंगाल फिल्म जर्नलिस्ट एसोसिएशन अवार्ड से भी सम्मानित किया गया। उसके बाद वह फिल्म मार्केट में एक जवान बाजारू औरत की भूमिका में दिखाई दी। इस फिल्म के लिए उन्हें आलोचकों की और बेहद सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली, साथ ही फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर अच्छी कमाई भी की। मनीषा अभिनेत्री होने के साथ-साथ एक निर्माता भी हैं। उन्होंने फिल्म मेकिंग का डिप्लोमा न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी से किया है। कोइराला ने अपने बैनर के तहत फिल्म पैसा वसूल का निर्माण किया। ऐसी फिल्म जो बॉलीवुड में अब तक नहीं बनी थी। इस फिल्म की लीड हीरोइन सुष्मिता सेन थीं। इस फिल्म की खासियत यह थी कि फिल्म ना तो लव स्टोरी थी और ना ही उसमे कोई भी हीरो था।

साल 2007 में वह फिल्म अनवर में एक सपोर्टिंग एक्ट्रेस के रूप में नज़र आयीं। उन्होंने हिंदी सिनेमा में फिल्म मुंबई एक्सप्रेस से एक जबरदस्त वापसी की। इस फिल्म में वह इरफ़ान खान के साथ नज़र आई। इस फिल्म में उनके अभिनय से दर्शक तो प्रभावित हुए लेकिन फिल्म की ख़राब मार्केटिंग की वजह से फिल्म को बॉक्स-ऑफिस पर औंधे मुंह की खानी पड़ी। मुंबई एक्स्प्रेस, 1942: अ लव स्टोरी, इंसानियत के देवत, य़लगार, सौदागर, मिलन, दुश्मनी, अनोखा अंदाज़, यूंही कभी, लाल बादशाह, कच्चे धागे, कारतूस, जय हिन्द, लावारिस, मन, ताजमहल,कंपनी,जानी दुश्मन, लज्जा, चैम्पियन, खौफ़,बाग़ी में भी मनीषा ने शानदार अभिनय किया।

इसे भी पढ़ें – फिटनेस जिंदगी का सबसे बड़ा तोहफा – मनीषा कोइराला