मनुष्य वही है, जो दूसरे के काम आएः कोश्यारी

0
634
  • राज्यपाल ने डिब्बावालों को बांटी साइकल

  • श्री साई श्रद्धा प्रतिष्ठान ने की मदद

संवाददाता

मुंबईः बहुत लोगों के पास ज्ञान और धन होता है पर वे दूसरों को दे नहीं पाते हैं। मनुष्य वही है जो दूसरों के काम आए। यह कहना है महाराष्ट्र राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी का। राज्यपाल सोमवार को राजभवन में श्री साईं श्रद्धा प्रतिष्ठान कि तरफ से आयोजित मुंबई के डिब्बावालों के सम्मान व साइकल वितरण कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे।

राज्यपाल ने कहा कि बहुत लोगों के पास पैसा नहीं होता है, पर वे भी दूसरों की मदद करना चाहते हैं। ऐसे ही लोगों से यह समाज चल रहा है। प्रतिष्ठान के अध्यक्ष और भाजपा युवा मोर्चा के राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य शुभ्रांशु दीक्षित के कामों की सराहना करते हुए श्री कोश्यारी ने कहा कि साईं इनकों इतनी शक्ति दें कि वे और भी अच्छा काम करते रहें। संपत्ति तो बहुत लोगों के पास होती है लेकिन सब लोग अच्छा काम नहीं कर पाते हैं। इली तरह ज्ञान तो बहुत लोगों के पास होता है, लेकिन सङी लोग दूसरों को ज्ञान नहीं पाते हैं। छोटी-छोटी मदद से भी लोगों को बहुत राहत मिलती है।

श्री कोशियारी ने कहा, “मुंबई के सभी डिब्बावाले मेहनत करके लोगों को भोजन पहुंचाने का पुण्य काम कर रहे हैं। अच्छा काम करने वालों की ईश्वर हमेशा मदद करता है। आज भले ही डिब्बावाले साइकल से चल रहे हैं लेकिन मैं ईश्वर के चरणों में प्रार्थना करता हूं कि उनके बच्चे भविष्य में कार और हवाई जहाज से चलें।” राज्यपाल ने मुंबई डिब्बावाला एसोसिएशन के अध्यक्ष सुभाष तलेकर और दशरथ केदार सहित दर्जन भर से अधिक डब्बावालों को साइकल की चाभी सौपी।

इस मौके पर श्री साईं श्रद्धा प्रतिष्ठान के शुभ्रांशु दीक्षित ने कहा कि कोरोना संक्रमण के चलते पिछले छह महीनों से ज्यादा समय तक लॉकडॉउन लगे रहने के कारण डिब्बावालों की स्थिति खराब हो गई थी। इस दौरान डिब्बावालों की साइकल भी बारिश में भीगकर ख़राब हो गईं थी। जब इस बारे में हमारे प्रतिष्ठान को पता चला तो हमने तय किया कि हम लोग डिब्बावालों को नई साइकल भेंट करेंगे। उन्होंने कहा कि हम लोगों ने अपनी छोटी सी पहल से डिब्बावालों को साइकल दिया है। हमें उम्मीद है कि समाज के और लोग भी डिब्बावालों की मदद के लिए आगे आएंगे।

इसे भी पढ़ें – कोरोना की बजाय अर्नब गोस्वामी से लड़ रही है महाराष्ट्र सरकार

इसे भी पढ़ें – अर्नब गोस्वामी और रिपब्लिक टीवी को खत्म करने का मुंबई पुलिस का मास्टर प्लान

इसे भी पढ़ें – मुंबईकरों के साथ महाविकास अघाड़ी सरकार का विश्वासघात – मंगल प्रभात लोढ़ा