admin

Mumbai based journalist, author, translator, blogger and biographer. Writer of two books on the Indian Prime Minister Narendra Modi, ‘Narendra Modi : Ek Shakhsiyat’ & ‘Narendra Modi: The Global Leader’ and ‘Dawood Ibrahim : The Most Wanted Don’

Posts

25 POSTS

Comments

0 COMMENTS

Social

क्या अमेरिकी राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रंप ह्वाइट हाउस में रहने की बजाय अपने निजी बंगले से अमेरिकी प्रशासन चला सकते हैं? क्या भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र...
हरिगोविंद विश्वकर्मा वह मुस्करा रहा था। मुस्करा ही नहीं रहा था, बल्कि हंस भी रहा था। बहुत ख़ुश लग रहा था। ऐसा लग रहा था,...
आ गए क्यों उम्मीदें लेकर करूं तुम्हें विदा क्या देकर... लाख मना की पर ना माने क्यों रह गए तुम मेरे होकर... अपना लेते किसी को तुम भी आखि‍र...
ग़ज़ल मेरा क्या कर लोगे ज़्यादा से ज़्यादा, गुफ़्तगू ना करोगे ज़्यादा से ज़्यादा। पता है वसूलों से समझौते की कीमत, मालामाल कर दोगे ज़्यादा से ज़्यादा। ना जाऊंगा...
ग़ज़ल टूटा है कहर सब पर किस्मत से ज़ियादा नफरत भरी है यहां मोहब्बत से ज़ियादा दिल का कदर क्या वह खाक करेगा जिसके लिए प्यार नहीं तिजारत...
कांग्रेस से बीजेपी में आए सांसद जगदंबिका पाल सिंह ने एक बार कहा था कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मिलना सचमुच बहुत कठिन...

Recent posts

नारायण दत्त तिवारी की तरह “बायोलॉजिकल फादर” बनने की राह पर रवि किशन (Ravi Kishan on the path to becoming a “biological father” like...

एडवोकेट अशोक सारावगी ने कहा कि वह शिनोवा अदालत से न्याय दिलवाएंगे अभिनेता और भाजपा सांसद रवि किशन शुक्ला कांग्रेस नेता स्वर्गीय नारायण दत्त तिवारी...

यादगार रहा चित्रनगरी संवाद मंच का महिला मुशायरा-कवि सम्मेलन

मुंबई। हर सप्ताह की तरह इस बार भी रविवार की शाम ख़ुशगवार रही जब शहर की महिला शायरात और कवयित्रियों ने मशहूर कथाकार सूरज...

संवेदनशील कच्चाथीवू द्वीप मुद्दे पर भारतीय नेताओं का संयम से काम लेना जरूरी

कच्चाथीवू द्वीप के बदले वेज बैंक मिल चुका है भारत को भारत को यह मान लेना चाहिए कि चीन हमारा पाकिस्तान से भी ख़तरनाक दुश्मन...

एक था मुख्तार अंसारी

योगी-काल में पहले मुन्ना बजरंगी, विकास दुबे, अतीक अहमद और अब मुख़्तार सुभान अंसारी का अंत संसार में शहंशाह कोई नहीं, बस समय शहंशाह होता...

Building Resilience for a Changing Climate

Climate resilience refers to the capacity of individuals, communities, ecosystems, and societies to withstand, adapt to, and recover from the impacts of climate change...

Recent comments